कंप्यूटर की पीढ़ी | Generation Of Computer In Hindi

Generation_Of_Computer

दोस्तों Computer का इतिहास अक्सर Computing उपकरणों (Devices) की विभिन्न पीढ़ी के संदर्भ में शुरू किया जाता है। एक पीढ़ी उत्पाद विकास प्रक्रिया में सुधार की स्थिति को संदर्भित करती है। इस शब्द का उपयोग Computer Technology के विभिन्न प्रगति के लिए भी किया जाताहै। प्रत्येक नई पीढ़ी के साथ सर्किटरी (Circuitry) पिछले पीढ़ी की तुलना में छोटे और अधिक उन्नत (Advance) हो गई है। Computer को 5 पीढियों (Generations) में बांटा गया हैं। दोस्त आज हम इस पोस्ट में Computer की पीढ़ी (Generation) के बारे में पढ़ेंगे। उम्मीद करता हूँ की आप सभी को मेरा यह पोस्ट पसंद आएगा।

क्या आप ने इसको पढ़ा नहीं तो एक बार जरुर पढ़ले :-

कंप्यूटर की पीढ़ी (Generation Of Computer In Hindi)

दोस्तों Computer का अविष्कार जब से हुआ है तब से ले के अभी तक का अवधि (Period) को अलग अलग भागों में बांटा गया है, उसी अवधि (Period) को हम Computer पीढ़ी (Generation) कहते हैं।  प्रत्येक नई पीढ़ी में Computer की सर्किटरी (Circuitry) पिछले पीढ़ी की तुलना में छोटे और अधिक उन्नत (Advance) होती गई है। Computer की हर पीढ़ी को प्रमुख तकनीकी विकास द्वारा माना जाता है जो मूल रूप से कंप्यूटर के संचालन के तरीके को बदलता है, जिसके परिणामस्वरूप Computer छोटे, सस्ता और अधिक शक्तिशाली और अधिक कुशल (Efficient) और विश्वसनीय (Reliable) उपकरण होते जा रहा हैं।

कंप्यूटर की कितनी पीढ़ी है (How Many Generations Of Computer)

  1. First Generation (1937-1953)
  2. Second Generation (1954-1962)
  3. Third Generation (1963-1971)
  4. Fourth Generation (1972-1984)
  5. Fifth Generation (1985-Present)

First Generation (1937-1953): Vacuum Tubes

Computer की पहली पीढ़ी में Circuit के लिए Vacuum Tubes और Memory के लिए Magnetic Drum का उपयोग किया जाता था। यह बहुत विशाल होता था और इसे लगवाने के लिए पूरा कमरा की जरुरत होती थी। Magnetic Drum जिसे Drum के रूप में भी जाना जाता है, यह एक Metal Cylinder के जैसा होता है जो Magnetic iron-oxide से ढंका हुआ होता है, जिस पर डेटा (Data) और प्रोग्राम (Program) संग्रहीत (Store) किया जा सकता है। Magnetic Drum जहां एक बार प्राथमिक स्टोरेज डिवाइस (Primary Storage Device) के रूप में उपयोग किया जाता था लेकिन बाद में सहायक स्टोरेज डिवाइस (Auxiliary Storage Device) के रूप में लागू किया गया था।

Vacuum_Tube

ये संचालित करने के लिए बहुत महंगा थे और बिजली का एक बड़ा सौदा करने के अलावा, बहुत गर्मी उत्पन्न करते हैं।

UNIVAC (Universal Automatic Computer) और ENIAC (Electronic Integrator and Computer) पहली पीढ़ी (Generation) के Computing Device हैं।

Second Generation (1954-1962): Transistors

Computer की दूसरी पीढ़ी में Vacuum Tube को बदल के Transistor का उपोग किया गया था। Transistor अर्धचालक (Semiconductor) पदार्थ से बना एक उपकरण है जो सिग्नल को बढ़ाता है और Circuit खोलता है या बंद करता है। इसका अविष्कार 1947 में Bell Labs में किया गया था। Transistor Computer सहित सभी Digital Circuit का मुख्य घटक बन गया है। आज के Microprocessor में लाखों Microscopic Transistors लगे होते हैं।

Transistor

Transistor Vacuum Tube से बहुत बेहतर था, इसके आने से Computer छोटे, तेज, सस्ता, ऊर्जा का बचत और पहली पीढ़ी की तुलना में अधिक विश्वसनीय होते थे। Transistor के माध्यम से भी बहुत गर्मी उत्पन्न होता था जिसे कंप्यूटर को नुकसान होता था। इस पीढ़ी का पहला Computer Atomic Energy Industry के लिए बनाया गया था।

Third Generation (1963-1971):  Integrated Circuits

एकीकृत सर्किट (Integrated Circuit) का विकास तीसरी पीढ़ी के Computer का नमूना था। Transistor को कम से कम किया गया और Silicon Chips का उपयोग किया गया, जिसको Semiconductors कहा जाता है, जो Computer की गति और कार्यक्षमता में काफी वृद्धि किया। इस पीढ़ी में CPU और Memory दोने के लिए Computer Chip का उपयोग होने लगा, जो Semiconductor पदार्थ से बना होता है, Semiconductor Electronic घटकों को छोटा बना दिया। न केवल छोटा बनाया बल्कि घटक (Component) कम जगह लेने लगे और कम ऊर्जा की आवश्यकता होने लगी।

Integrated_Circuits

Fourth Generation (1972-1984): Microprocessors

माइक्रोप्रोसेसर (Microprocessors) ने चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर लाए, हजारों Integrated Circuits के जगह एक Silicon Chip का पुनर्निर्माण किया गया और इसमें Central Processing Unit होती हैं। वर्तमान Computer की दुनिया में, माइक्रोप्रोसेसर (Microprocessors) और सीपीयू (CPU) शब्द अदल-बदल कर उपयोग किए जाते हैं। Microprocessor घड़ी के सुई से लेकर Automobile के Fuel-Injection System तक लगभग सभी डिजिटल उपकरणों के तर्क को नियंत्रित करता है।

Microprocessors

तीन मूलभूत विशेषताएं Microprocessor को अलग करती हैं :

  • Instruction Set : निर्देशों का सेट जो माइक्रोप्रोसेसर निष्पादित कर सकता है।
  • Bandwidth : एक ही निर्देश में संसाधित बिट्स (Bits) की संख्या।
  • Clock Speed : Megahertz (MHz) में देखते हुए, Clock Speed निर्धारित करती है कि प्रति सेकंड प्रोसेसर कितने निर्देश निष्पादित (Execute) कर सकते हैं।

1981 में IBM ने घरेलू उपयोगकर्ता के लिए पहला कंप्यूटर पेश किया, और 1984 में Apple ने Macintosh पेश किया।

यह छोटा Computer और अधिक शक्तिशाली हो जाता है, इसलिए उन्हें नेटवर्क बनाने के लिए एक साथ जोड़ा जा सकता है, जो अंततः इंटरनेट के विकास की ओर ले जाता है। चौथी पीढ़ी के Computer ने ही माउस और हैंडहेल्ड डिवाइस के विकास को भी देखा।

Fifth Generation (1985-Present)

कृत्रिम बुद्धि (Artificial Intelligence) के आधार पर 5 वीं पीढ़ी की Computing Device अभी भी विकास में है, हालांकि कुछ अनुप्रयोग (Application) हैं, जैसे की ध्वनि पहचान, जिनका उपयोग आज किया जा रहा है।

कृत्रिम बुद्धि (Artificial Intelligence) Computer Science की शाखा है जो Computers को मनुष्यों की तरह बुद्धिमान बनाने का प्रयास करती है। कृत्रिम बुद्धि में Games Playing, Expert System, Natural Language, Neural Networks, Robotics, Voice Recognition शामिल हैं।

एक बार जरुर पढ़ले :-

प्रिय दोस्तों उम्मीद करता हूँ की आप सभी को मेरा पोस्ट कंप्यूटर की पीढ़ी (Generation Of Computer In Hindi) पसंद आया होगा| अगर आप को यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो Comment Box में Comment कर के जरुर बताये और अपने दोस्तों को भी Share करदे| अगर इस पोस्ट से Related आप के पास कोई Question है तो आप Comment Box के द्वारा हम से पूछ सकते है| बस आज के लिए इतना ही मिलते है अगले पोस्ट में|

||| धन्यवाद |||

Subscribe LocalTrix For Latest Updates

About the Author: Local Trix

LocalTrix is the best way to learn online.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: DMCA Protected !!